Hot News अभी - अभी

रतनपुर में गाय पर हमला करने वाले युवक गिरफ्तार, रानीवाडा उपखंड की ताजा खबरों के आपका स्वागत।।

Saturday, 1 January 2011

नए वर्ष में नई शुरूआत - देवासी

रानीवाड़ा।
नए वर्ष के आगाज पर आज कस्बे के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में औषधी केंद्र के भवन निर्माण एवं नए टैक्सी स्टेण्ड़ का शिलान्यास विधायक रतन देवासी एवंं एसडीएम कैलाशचंद्र शर्मा के द्वारा किया गया। उक्त दोनों निर्माण कार्य विधायक कोष की राशि से करवाए जा रहे है। शिलान्यास समारोह का संबोधित करते हुए देवासी ने कहा कि डिस्कॉम कार्यालय के सामने प्रस्तावित टैक्सी व बस स्टेण्ड़ के बनने के बाद कस्बे के यातायात की व्यवस्था में सुधार आएगा। कस्बे में रेल्वे प्लेटफार्म व सब्जी मंड़ी के सामने खड़ी रहने वाली तमाम टैक्सीयां नए स्टेण्ड़ पर सिफ्ट हो जाएगी। जिससे कस्बे वासियों को आवागमन में राहत मिलेगी। टैक्सी स्टेण्ड़ पर यात्री प्रतिक्षालय का भी निर्माण किया जाएगा। स्टेण्ड़ के लिए ९ लाख रूपए विधायक कोष से स्वीकृत किए गए है। जिसके तहत 300 फूट लंबा पार्किंग ट्रेक एवं डिवाईडर बनाकर लोहे की जाली लगाई जाएगी। जिससे कस्बे में आने व जाने वाले वाहनों को आवागमन में सुगमता महसूस हो सकेगी। सार्वजनिक निर्माण विभाग के द्वारा बनाए जाने वाले इस टैक्सी स्टेण्ड़ का निर्माण आज शुरू कर दिया गया है।
इसी तरह कस्बे की सीएचसी में 24 घंटे रियायती दर पर औषधियों की सुविधाएं उपलब्ध करवाने को लेकर विधायक देवासी ने अपने मद से तीन लाख रूपए स्वीकृत करवाए है। भवन का शिलान्यास आज दोपहर 2 बजे किया गया। उन्होंने बताया कि इस भवन के बनने से क्षेत्र के निवासियों को रियायती दर पर उच्च गुणवत्ता वाली औषधियां 24 घंटे मिल सकेगी। औषधि केंद्र का संचालन उपभोक्ता भंडार या स्वयं सेवी संस्थान के द्वारा किया जाएगा। इस अवसर पर ब्लॉक सीएमओ डॉ. एआर चौहान, केंद्र प्रभारी डॉ. वासुदेव लोढ़ा, डॉ. हरीश जीनगर सहित कई जने उपस्थित थे। बाद में विधायक देवासी ने सीएचसी का निरीक्षण भी किया।

धरना हुआ रद्द, धरनार्थी मुख्यालय पर नही पहुंचे

रानीवाड़ा।
विशेष पिछड़ा वर्ग आरक्षण मामले को लेकर अखिल भारतीय रेबारी समाज सेवा संस्थान के द्वारा प्रस्तावित धरने को सामाजिक पंचों की समझाईस के बाद टाल दिया गया। इस धरने को लेकर पूरे जिले के प्रशासन सुबह से ही सतर्क हो गया था। बाद में धरना टालने की खबर के साथ प्रशासन को राहत मिली है।
video
जानकारी के मुताबिक, धरना देने रानीवाड़ा उपखंड मुख्यालय पर भीनमाल सहित अन्य जिलों से आ रहे रेबारी समाज के प्रतिनिधियों ने कस्बे से पांच किमी दूर लहरीया होटल पर ठहरकर वस्तुस्थिति की जानकारी ली। रानीवाड़ा तहसील क्षेत्र के रेबारी समाज के लोग सेवाडिय़ा स्थित आपेश्वर महादेव मंदिर में एकत्रित हुए थे। तनाव की स्थिति को देखते हुए समाज के मौजूद लोगों ने समझाईस कर धरना टालने की पहल की, तब स्थानीय समाज के पंचों का प्रतिनिधि मंड़ल जिसमें हरजीराम, पीराराम, जोगाराम, बगदाराम सहित कई जने शामिल थे। उन्होंनें लहरीया होटल में भीनमाल से आए खीमराज देसाई व कोड़का सरपंच ओखाराम से वार्तालाप किया। वार्तालाप के बाद पंचों ने सर्वसम्मति से निर्णय लेकर शुक्रवार को रानीवाड़ा तहसील क्षेत्र के रेबारी समाज के द्वारा स्थानीय विधायक रतन देवासी व एसडीएम कैलाशचंद्र शर्मा को दिए गए आरक्षण मामले के ज्ञापन में सहमति देकर उसको मान लिया गया।
सौहार्दपूर्ण वातावरण में हुए समाज के पंचों के इस निर्णय का सभी लोगों ने ध्वनिमत से तालिया बजाकर समर्थन दिया तथा समाज में संगठन व त्याग सहित कर्तव्य परायणता की भावना बनाए रखने की बात दौहराई। बाद में खेमराज देसाई, सुरेश बंजारा व मेहराराम बाड़मेर सहित चार दर्जन लोग होटल लहरीया से भीनमाल की ओर रवाना हो गए। जिला प्रशासन के लिए चिंता का विषय बना यह धरना, समाज के लोगों की समझाईस के बाद टलने से उन्हे राहत मिली है। धरने को लेकर करड़ा, बागोड़ा, मोदरान, भीनमाल, जसवंतपुरा सहित रानीवाड़ा पुलिस थाने सहित पुलिस लाईन से विशेष जाब्ता मंगवाया गया था।
संयुक्त जातिय आरक्षण संघर्ष समिति के प्रदेशध्यक्ष मेहराराम रायका ने बताया कि समाज आरक्षण को लेकर संगठित है। समाज में कोई विरोधाभास नही है। शुक्रवार को दिए गए रेबारी समाज के ज्ञापन को हम लोगों ने भी सहमति देकर मान लिया है। कुछ लोग इस धरने को लेकर राजनीति करने जा रहे थे। वो समाज को कदापि मंजुर नही है। आरक्षण को लेकर 4 जनवरी को सिणधरी में भी विशाल महापड़ाव दिया जाएगा।

स्नैह मिलन समारोह सम्पन्न

video
रानीवाड़ा।
क्षेत्र में नए वर्ष के आगाज के साथ एक नई परिपाटी की शुरूआत हुई है। पंचायत समिति सभा भवन में आज उपखंड स्तर के समस्त विभागों के अधिकारियों, ग्रामसेवकों व पटवारियों का सामुहिक स्नैह मिलन समारोह विधायक रतन देवासी के सानिध्य में सम्पन्न हुआ। देवासी का विदेश प्रवास के दौरान राजस्थान के नेतृत्व करने को लेकर साफा पहनाकर स्वागत किया गया। प्रशासन गांवों के संग अभियान के समापन के बाद उसकी सफलता व जिले में नए आयाम तय करने को लेकर बैठक में प्रभारी अधिकारी कैलाशंचद्र शर्मा उपखंड अधिकारी का भी साफा पहनाकर स्वागत किया गया। इस अवसर पर देवासी ने कहा कि नया वर्ष शुभ संदेश लेकर आया है। नए वर्ष के प्रथम दिन स्नैह मिलन के तहत सभी कर्मचारी व अधिकारी दो वर्ष के दौरान किए गए विकास कार्यों एवं इस वर्ष नए कार्यों की कार्य योजना के बारे में चर्चा कर रहे है। यह क्षेत्र के लिए खुशी व उत्साह का दिन है। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में धार्मिक पर्यटन बनाने को लेकर किए गए प्रयासों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। एसडीएम शर्मा ने भी अभियान के दौरान लक्ष्य से ज्यादा उपलब्धी हासिल करने में तमाम अधिकारियों के सहयोग की सराहना कर आभार जताया।
उन्होंनें बताया कि राज्य सरकार के नए निर्देशों के तहत अब प्रशासन गांवों के संग अभियान की तर्ज पर प्रत्येक माह के प्रथम बुधवार को तहसील मुख्यालय पर बहुउद्देश्यीय शिविर का आयोजन किया जाएगा। जिसमें लोगों के अभाव अभियोग की सुनवाई कर शिविर के दौरान ही त्वरीत समाधान भी किया जाएगा। शर्मा ने बताया कि इसी तरह प्रत्येक माह के अंतिम शुक्रवार को भू-अभिलेख मुख्यालय पर इसी तरह के शिविर आयोजित करने के निर्देश है। निर्देशों की पालना के तहत जनवरी माह के अंतिम शुक्रवार को रानीवाड़ा मुख्यालय, फरवरी माह में करड़ा मुख्यालय एवं मार्च माह के मालवाड़ा मुख्यालय पर शिविर का आयोजन किया जाएगा।
इस अवसर पर तहसीलदार खेताराम सारण, नायब तहसीलदार गोपालसिंह, विकास अधिकारी ओमप्रकाश शर्मा, जिला उपप्रमुख मूलाराम राणा, उपप्रधान रावताराम मेघवाल, सरपंच गोदाराम देवासी ने भी संबोधित कर नए वर्ष की शुभकामनाए दी।

धरने का किया जाएगा विरोध

रानीवाड़ा !कस्बे के आपेश्वर महादेव मंदिर सेवाडिय़ा में तहसील क्षेत्र के देवासी, बंजारा एवं गाड़लिया समाज के प्रतिनिधियों की एक बैठक हुई। जिसमें सर्व सम्मति से प्रस्ताव पारित कर आगामी शनिवार को उपखंड मुख्यालय पर होने वाले आरक्षण मामले को लेकर बैठक का विरोध जताने का निर्णय लिया गया। समाजसेवी हरजीराम देवासी ने बताया कि बैठक में भीनमाल में चल रहे धरने को भी राजनीतिक हथकंडा बताया गया। समाजसेवी बगदाराम पाल ने कहा कि आरक्षण मसले पर रानीवाड़ा तहसील के देवासी समाज के प्रतिनिधि मंडल ने समाज हित में मुख्यमंत्री से मुलाकात कर समाज की भावनाओं से अवगत करवाया गया है। ऐसे में अब आरक्षण को लेकर किसी भी धरने का विरोध किया जाएगा। इस अवसर पर गणेश देवासी एडवोकेट, वचनाराम देवासी, खेताराम, कृष्णकुमार, होथीराम, उदाराम, करमीराम, मसराराम सहित कई जने उपस्थित थे।

Thursday, 30 December 2010

नहर पर पुल बनाने की मांग

रानीवाड़ा
वणधर के किसानों ने कलेक्टर को पत्र प्रेषित कर बांध से निकलने वाली मुख्य नहर पर पुलिया बनाने की मांग रखी है। पंचायत समिति सदस्य उगमदेवी मेघवाल ने बताया कि वणधर बांध के सामने मुख्य नहर पर पुल नहीं होने के कारण रोपसी गांव जाने वाले लोगों को आवागमन में भारी परेशानी झेलनी पड़ती है। 

लिहाजा किसानों को लंबा रास्ता तय कर रोपसी जाना पड़ रहा है। उन्होंने बताया कि नहर पर पुल निर्माण का कार्य सिंचाई विभाग द्वारा स्वीकृत होने के बाद विभागीय अधिकारियों के लापरवाही के चलते कार्य नहीं करवाया जा रहा है। उन्होंनें बताया कि वणधर बांध में पानी की अच्छी आवक होने से आस-पास के कृषि कुओं का जलस्तर बढ़ा है। जलस्तर को बढ़ाने को लेकर बांध का पानी नहरों या नदी में नहीं छोड़ा गया है। किसानों ने मांग की है कि बांध के पेटा कास्त भूमि में आए हुए किसानों को मशीन लगाकर पानी का दोहन करने की स्वीकृति दिलावे, ताकि किसान कम लागत से अच्छी फसल तैयार कर सके। उन्होंने कहा कि बांध में इन दिनों कुछ मशीनों द्वारा किसान पानी का दोहन कर फसल तैयार कर रहे हंै।

Wednesday, 29 December 2010

आरक्षण मुद्दे पर सीएम से मिला प्रतिनिधिमंडल

रानीवाड़ा

विशेष पिछड़ा वर्ग में शामिल रेबारी, बंजारा और गाडोलिया लुहार समाज के प्रतिनिधियों मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मिलकर मांग की है कि आरक्षण को लेकर सरकार से होने वाली वार्ताओं में उनके प्रतिनिधियों को भी शामिल किया जाए। समुदाय विशेष के साथ समझौते उन्हें मान्य नहीं होंगे।

जयपुर से लौटे प्रतिनिधि मंडल के सदस्य गोदाराम देवासी ने बताया कि एसबीसी वर्ग की तीन जातियों के लोगों के साथ न्याय दिलाने की बात को लेकर सोमवार को एक प्रतिनिधि मंडल मुख्यमंत्री से मिला और मांग पत्र सौंपा। मांग पत्र में बताया गया है कि न्यायालय के आदेशों की तुरंत पालना करते हुए समिति का गठन कर डॉटा एकत्रित करने का कार्य हाथ में लेना चाहिए। इन समाज ने मांग की कि सामाजिक सर्वेक्षण व अन्य मुद्दों पर तालमेल व सामाजिक सूचनाओं के लिए प्रदेश, जिला व तहसील स्तर पर कार्यकर्ताओं की नियुक्ति की जाए। इन समाजं के अधिकांश परिवार राज्य से बाहर हंै। ऐसे में इनके आंकड़ें जुटाने में सावधानी बरती जाए।

उपसमिति से भी मिले : तीनों जातियों के प्रतिनिधियों ने मंत्री मंडलीय उप समिति से भी मुलाकात कर समाज के लोगों की भावनाओं से अवगत कराया। उन्होंने सर्वे में जल्दबाजी करने में समाज को होने वाले नुकसान के बारे में जानकारी दी। समिति के तीनों सदस्य जितेंद्रसिंह गुर्जर, बृजकिशोर शर्मा व शांति धारीवाल ने इनकी मांगों पर विचार कर रेबारी, बंजारा व गाडलिया लुहार समाज को भी गुर्जरों के समान प्रतिनिधित्व दिलाने का आश्वासन दिया। इसके बाद मुलाकात के दौरान मुख्यमंत्री ने भी इन तीनों समाजों के प्रतिनिधियों से काफी लंबी बातचीत करते हुए बताया कि सरकार द्वारा पारित विधेयक के तहत आरक्षण दिलवाया जाएगा। सरकार चाहती है कि न्यायालय के फैसले के अनुसार सर्वे हो। नौकरियों में एक प्रतिशत का लाभ मिलता रहेगा तथा 4 प्रतिशत पद सृजित कर आरक्षित रखे जाएंगे तथा जब भी उच्च न्यायालय का निर्णय होगा तब इस वर्ग को इन पदों पर नियुक्ति का अवसर दिया जाएगा।

क्या हंै सामाजिक मांगें

प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपा। जिसमें कई मांग की गई हैं। इनके अनुसार पशुपालक कल्याण बोर्ड में राजनीतिक नियुक्तियां शीघ्र कर देवनारायण बोर्ड की तरह बजट आवंटित करने, रेबारी समाज के विद्यार्थियों की आवास समस्या के लिए जयपुर व कोटा में रियायती दर पर भूखंड का आवंटन किया जाए। घुमंतू होने की वजह से रेबारी समाज के लोगों को नि:शुल्क पशु बाड़ा के लिए भूखंड़ का आवंटन किया जाए, सुरक्षा के लिए शस्त्र का लाइसेंस दिया जाए। निष्क्रमण के दौरान पशुपालकों की जन हानि होने पर ५ लाख एवं घायल होने पर २ लाख रुपए राहत राशि मुख्यमंत्री सहायता कोष से आवंटित की जाए। बंजारा एवं गाडलिया समाज के लोगों ने भी इस वर्ग को समाज की मुख्य धारा में लाने के लिए अलग से बोर्ड गठित कराने, निशुल्क भूखंड दिलाने, जाति प्रमाण पत्र बनाने में भ्रांतियों का निवारण कराने व समस्त समाज को बीपीएल श्रेणी में जोडऩे की मांग की है।